महत्वपूर्ण जनरल नॉलेज - Important General Knowledge


Tag


महत्वपूर्ण तत्व और यौगिक ओजोन मिश्रण ऊर्ध्वपातन निस्तारण क्रिस्टलन निस्यंदन प्रभाजी आसवन one liner एक लाइनर

महत्वपूर्ण तत्व और यौगिक – ओजोन, मिश्रण, ऊर्ध्वपातन, निस्तारण, क्रिस्टलन, निस्यंदन, प्रभाजी आसवन


ओजोन

  • ओजोन किसका यौगिक है? – ऑक्सीजन का
  • ओजोन किस रूप में पाया जाता है? – गैस के रूप में

मिश्रण (Mixture)

  • मिश्रण क्या होता है? – दो या सो से अधिक किन्ही भी पदार्थो को किसी भी अनुपात में मिलाने से मिश्रण बन जाता हैं
  • मिश्रण तथा यौगिक में मुख्य अंतर क्या होता है? – मिश्रण दो या दो से अधिक तत्वों के किसी भी अनुपात से बनाया जा सकता है जबकि यौगिक बनाने के लिए में दो या दो से अधिक तत्वों का अनुपात बिलकुल निश्चित होता है
  • मिश्रण के अवयवों को भौतिक विधियों द्वारा अलग किया जा सकता है? – हाँ
  • मिश्रण के क्वथनांक व गलनांक निश्चित होते हैं या अनिश्चित होते? – अनिश्चित होते हैं
  • मिश्रण का एक सुलभ उदाहरण? – दूध
  • मिश्रणों के पृथक्करण के लिए जिन विधियों का प्रयोग मुख्य रूप से होता है? – ऊध्वपातन, अवसादन, क्रिस्टलन, निस्यंदन, वाष्पीकरण, आसवन, प्रभाजी आसवन तथा क्रोमेटोग्राफी

 

 

अवसादन (Sedimentation)

  • अवसादन क्या होता है? – जिसमें किसी द्रव पदार्थ में मिले भारी पदार्थो को थोड़ी देर तक रखने के बाद भारी पदार्थ तली पर बैठ जाते है। यदि मिटी मिले जल को कुछ समय के लिए बिना छेड़े रख दिया जाय तो मिट्टी या रेत के भारी कण नीचे बैठ जाते हैं और ऊपर का पानी साफ हो जाता है। यही अवसादन है

 

निस्तारण  (Decantation)

  • निस्तारण क्या होता है? – अवसादन की क्रिया में नीचे बैठ गई मिट्टी या भारी कणों के ऊपर से स्वच्छ जल को सावधानी से किसी दूसरे स्थान पर स्थानांतरित कर स्वच्छ जल प्राप्त करने की क्रिया को निस्तारण कहते है

 

क्रिस्टलन (Crystallization)

  • क्रिस्टलन क्या होता है? – यह भी मिश्रणों को अलग करने की एक प्रक्रिया है जिसमें ठोस वस्तुओ का अलग किया जाता है
  • क्रिस्टलन में पृथक्करण कैसे किया जाता है? – इस प्रक्रिया में अशुद्ध ठोस पदार्थ या मिश्रण को किसी विलायक के साथ उसके क्वथनांक तक गर्म करते है।इसके बाद गर्म विलयन को छानकर, धीरे-धीरे कक्ष-ताप तक ठण्डा होने के लिए छोड़ देतेहै। जब शुद्ध क्रिस्टलीकृत होता है, इसे निस्पंदन द्वारा अलग करके सुखा लेते है

 

निस्यंदन  (Filtration)

  • निस्यंदन क्या है? – इसमें द्रव में निलंबित ठोस पदार्थ को तेजी से पूरा अलग करने में किया जाता है,इस निलंबन को निस्पंदक (छन्ना) से गुजरने दिया जाता है

 

आसवन (Distillation)

  • आसवन क्या है? – आसवन की प्रक्रिया किसी द्रव को ठण्डा कर पुनः द्रव अवस्था में लाया जाता है
  • आसवन प्रक्रिया में किस तरह के पदार्थो का पृथक्करण किया जाता है? – इस प्रक्रिया मे वाष्पशील पदार्थो को अवाष्पशील पदार्थो से अलग किया जाता है
  • साधारण जल से आसुत जल किस प्रक्रिया से बनाया जाता है? – आसवन प्रक्रिया से

 

प्रभाजी आसवन (Fractional Distillation)

  • प्रभाजी आसवन क्रिया में पदार्थों का किस प्रकार पृथक्करण किया जाता है? – प्रभाजी आसवन में भिन्न क्वथनांक वाले दो या दो से अधिक वाष्पशील द्रवों को अलग करने के लिए प्रभाज के स्तंभ का प्रयोग होता है
  • कच्चे तेल से पेट्रोल, डीज़्ाल, मिट्टी का तेल, भारी तेल आदि को कैसे अलग किया जाता है? – प्रभाजी आसवन द्वारा
  • द्रवित वायु से ऑक्सीजन, नाइट्रोजन, अक्रिय गैसें तथा कार्बन डाइ ऑक्साइड को किस प्रक्रिया से अलग करते है? – प्रभाजी आसवन द्वारा
  • व्हिस्की, जिन, रम तथा ब्रांडी के बनाने में किस प्रक्रिया का प्रयोग होता है? – प्रभाजी आसवन का

 




Previous

Next


दोस्तों,आप सभी को BhartiyaExam कैसी लगी,आप आपने कमेंट के माध्यम से हमें बताये, BhartiyaExam को अपने दोस्तों के साथ,व्हाट्सप ग्रुप,फेसबुक पर अधिक से अधिक शेयर करे। धन्यवाद।



LEAVE A COMMENT

Note: write a valuable comment!

Comments

{{commentObj.comment}}

{{commentObj.userName}}

{{commentObj.commentDate}}