● दिन में कम दिखायी देता हो – दिनौंधी (UPPCS) 
● जंगल की आग – दावानल (Upper Sub., Low Sub.) 
● जो बहुत कठिनाई से मिलता है – दुर्लभ, दुष्प्राप्य (RAS, UPPCS)
● ऐसा अकाल कि भिक्षा देना/लेना भी कठिन हो – दुर्भिक्ष (UPPCS) 
● अनुचित बात के लिए आग्रह – दुराग्रह (UPPCS, Upper Sub.) 
● ज्ञान नेत्र से देखने वाला अन्धा व्यक्ति – दिव्यद्रष्टा (UPPCS) 
● कठिनाई से समझने योग्य – दुर्बोधगम्य (UPPCS) 
● जिसकी जीविका दान पर चलती हो – दानवृत्ति (UKPCS)
● जो देखने योग्य हो – द्रष्टव्य, दर्शनीय (UPPCS) 
● जिस वर की शादी दूसरी बार हो रही हो – द्विवर (UKPCS)
● दो भिन्न भाषा-भाषियों के बीच मध्यस्थता करने वाला – द्विभाषिया (Low Sub.)

● जिसकी धर्म में निष्ठा हो – धर्मनिष्ठ (RAS) 
● जो गणना के अयोग्य हो – नगण्य (UPPCS) 
● जो ईश्वर को न मानता हो -नास्तिक (UPPCS, BDO Upper Sub., BPSC, IAS) 
● जो निन्दा के योग्य हो – निन्दनीय (Upper Sub.)
● जो नीचे लिखा गया है – निम्नलिखित (IAS) 
● जो किसी से न डरे – निडर (UKPCS)
● जो भयभीत न होता हो – निर्भीक, निर्भय, अभय (IAS) 
● मांस न खाने वाला – निरामिष (UPPCS) 
● जिसके मन/हृदय में दया न हो – निर्दय, निर्दयी (Upper Sub., BDO) 
● जिसके हृदय में ममता न हो – निर्मम (UPPCS, RO)
● जिसका कोई आधार न हो – निराधार (APO) 
● जिसका कोई आश्रय न हो – निराश्रय (Upper Sub.) 
● आकाश में विचरण करने वाला – नभचर (Low Sub.) 
● जिसके विषय में मत-भेद न हो – निर्विवाद (MPPCS) 
● जो नया आया हो – नवागत, आगन्तुक (UPPCS) 
● जहाँ किसी बात का डर अथवा खतरा न हों – निरापद (UPPCS) 
● देश के बाहर माल भेजना – निर्यात (UPPCS) 
● जिसकी आशा न की गई हो – नियंत्रित (RAS) 
● जहाँ आबादी न हो – निर्जन (Low Sub.) 
● जो इन्द्रिय रहित हो – निरीन्द्रिय (BPSC)
● जिसका गला नीले रंग का है – नीलकंठ (Low Sub.) 
● जिसका कोई अर्थ न हो – निरर्थक (UPPCS) 
● जो नापा जा सके – नापनीय, नाप्य (MPPCS) 
● निम्न कोटि का – निकृष्ट (Low Sub.) 
● जिसे वाणी व्यक्त न कर सके – निर्वाक् (UPPCS) 
● नष्ट हो जाने वाला – नष्ट प्राय (UPPCS) 
● नीले रंग का कमल – नील कमल (UPPCS) 
● जो शंका करने योग्य न हो – निःशंक (UPPCS) 
● पृथ्वी से संबंधित या मिट्टी का बना हुआ – पार्थिव (UPPCS) 
● जो देखने में प्रिय लगे – प्रियदर्शी (BPSC)
● इतिहास के युग से पूर्व का – प्रागैतिहासिक (BPSC, UPPCS)
● जिस स्त्री के पुत्र, पति दोनों हों – पुरन्ध्रि (BPSC)
● पिता से प्राप्त की हुई सम्पत्ति – पैतृक (RAS) 
● पत्ते की बनी हुई कुटी – पर्णकुटी (Upper Sub.) 
● किसी के निधन की वार्षिक तिथि – पुण्यतिथि (UKPCS)
● कही बात को बार-बार दुहराना – पिष्टपेषण, पुनरुक्ति (UPPCS) 
● जिसके पार देखा जा सके – पारदर्शी, पादर्शक (UPPCS, IAS,  UKPCS)
● जो अपनी जन्म भूमि छोड़कर विदेश में वास करता हो/जो व्यक्ति विदेश में रहता हो – प्रवासी (UPPCS) 
● दिन का पहला भाग सबेरे से दोपहर तक/दोपहर से पूर्व का समय – पूर्वाह्न (BPSC, UPPCS)
● दूसरों का उपकार/हित/भला करने वाला – परोपकारी (IAS,  Low Sub.) 
● पुस्तक या लेखक की हस्तलिखित प्रति – पाण्डुलिपि (Low Sub.) 
● जो दूसरे के अधीन हो – पराधीन (IAS) 
● स्त्री जिसे पति ने छोड़ दिया हो – परित्यक्ता (UKPCS, UPPCS)
● जो निगाह (आँखो) से परे हो – परोक्ष, अप्रत्यक्ष (UPPCS) 
● शीघ्र आग पकड़ने वाला – प्रज्वलनशील (MPPCS) 
● पर्वत की ऊँचाई आदि का पता लगाने वाला अभियान दल – पर्वतारोही दल (MPPCS) 
● एक मतवाद, जिसमें जीवन की सच्चाई और कठिनाइयों से भागने की प्रवृत्ति हो – पलायनवाद (MPPCS) 
● लौटकर आया हुआ – प्रत्यावर्ती (UPPCS) 
● जिस पर मुकदमा चल रहा हो/जो दायर मुकदमें का प्रतिवाद (बचाव) करे – प्रतिवादी (Low Sub., IAS,  UPPCS)
● ग्रन्थ के वे बचे हुए अंश जो प्रायः अन्त में जोड़े जाते हैं? – परिशिष्ट (IAS) 
● रात्रि का प्रथम प्रहर/रात्रि के पूर्व भाग का समय – प्रदोष (BPSC)
● प्रयत्न करना जिसका स्वभाव हो – प्रयत्नशील (APO) 
● जो केवल फल खाकर रहता हो – फलाहारी (IAS) 
● बहुत सी भाषाओं को जानने वाला/जो एक से अधिक भाषाएँ जानता हो – बहुभाषाविद्, बहुभाषी (UPPCS, Low Sub., UKPCS)
● जो आगे की बात सोचता है – भविष्यचेत्ता (MPPCS) 
● जो भारत में रहता हो – भारतीय, भारतवासी (IAS) 
● भूगर्भ विज्ञान का जानकार/जिसको भूमि के अन्दर की जानकारी हो – भूगर्भवेत्ता, भूगर्भशास्त्री (UKPCS)
● जो भू (भूमि) को धारण करता है – भूधर (UPPCS) 
● जो पूर्व में था या हुआ था पर अभी नहीं है – भूतपूर्व (UPPCS) 
● दोपहर का समय – मध्याह्न (IAS) 
● जिसे मोक्ष प्राप्त करने की इच्छा हो – मुमुक्ष (UKPCS, RAS, Upper Sub., UPPCS, IAS) 
● मन, वचन और कार्य से – मनसा-वाचा-कर्मणा (Upper Sub.) 
● जो कम खर्च करने वाला हो – मितव्ययी, कंजूस (UPPCS, APO) 
● जिसने मृत्यु को जीत लिया हो/जिसने मृत्यु पर विजय पाई हो – मृत्युंजय (APO, UPPCS)
● थोड़ा और नपा-तुला भोजन करने वाला – मिताहारी (APO) 
● किसी बात के मर्म (गूढ़ रहस्य) को जानने वाला/मन की बात जानने वाला – मर्मज्ञ (UPPCS) 
● प्रिय वचन बोलने वाली स्त्री – मृदुभाषिणी (UPPCS) 
● जो कम बोलने वाला हो – मितभाषी (Low Sub., UPPCS, IAS) 
● जो मृत्यु के समीप हो – मरणासन्न (UPPCS) 

Previous

Next

दोस्तों,आप सभी को जनरल नॉलेज कैसी लगी,आप आपने कमेंट के माध्यम से हमें बताये। और BhartiyaExam को अपने दोस्तों,व्हाट्सप ग्रुप,फेसबुक पर अधिक से अधिक शेयर करे। धन्यवाद।



Comments

  • {{commentObj.userName}}, {{commentObj.commentDate}}

    {{commentObj.comment}}


LEAVE A COMMENT

Note: write a valuable comment!

इतिहास जी के
भारतीय इतिहास की सामान्य ज्ञान
इतिहास की सामान्य ज्ञान
सामान्य ज्ञान 2017
GK 2017 General knowledge in hindi
सामान्य ज्ञान 2017
सामान्य ज्ञान 2016
GK 2016 General knowledge in hindi
सामान्य ज्ञान 2016
SSC CGL Exam GK
Most Important SSC CGL Question Answers
SSC CGL Exam GK