Like on Facebook
Powered by: BhartiyaExam

Bhartiya Exams

Search Latest Sarkari Naukri, Results, Admit Card Notifications.

 

Science GK in Hindi

Science GK in Hindi

Previous

Next


Science GK in Hindi

♦ ओजोन परत पराबैँगनी किरणोँ से पृथ्वी के जीवोँ की रक्षा करता है।
♦ CO2 का प्रयोग आग बुझाने के लिए किया जाता है।
♦ पहला हृदय प्रत्यारोपण डॉ. क्रिस्टियन बर्नार्ड ने किया।
♦ भारी जल परमाणु भट्टी मेँ मंदक के रूप मेँ काम आता है।
♦ एबी रूधिर वर्ग वाले मानव सार्वत्रिक ग्राही तथा ओ रूधिर वर्ग वाले मानव सार्वत्रिक दाता होते हैँ।
♦ लाल रूधिर कणिकाए अस्थिमज्जा मेँ बनती है तथा श्वेत रूधिर कणिकाए अस्थिमज्जा, प्लीहा व लसिका कोशिकाओँ मेँ बनती है। 


♦ रक्त का लाल रंग हीमोग्लोबिन प्रोटीन मेँ मौजूद लौह के कारण होता है।
♦ क्लोरोफार्म का प्रयोग बेहोश करने वाला पदार्थ के रूप मेँ होता है।
♦ मानव शरीर मेँ 206 हड्डियाँ हैँ।
♦ टंगस्टन सबसे कठोर पदार्थ है।
♦ एंजाइम विशेष प्रकार के प्रोटीन हैँ।
♦ हाइड्रोजन परमाणु ऐसा परमाणु है जिसमेँ न्यूट्रॉन नहीँ होता।


♦ काँसा ताँबा तथा टिन से बनता है, गन मैटल ताँबा, टिन तथा लैड का, पीतल ताँबा तथा जस्ते का तथा स्टेनलैस स्टील मेँ लौहा,क्रोमियम, कार्बन तथा निकल मिले होते हैँ।
♦ कोबाल्ट 60  कैँसर रोग मेँ, रेडियो समस्थानिक स्वर्ण 198  रक्त कैँसर के उपचार मेँ काम आता है।
♦ कैडमियम का नाभिकीय रिएक्टर मेँ शृंखला अभिक्रिया के नियंत्रक के रूप मेँ होता है।
♦ संलयन प्रक्रिया के उदाहरण सूर्य तथा हाइड्रोजन बम मेँ उत्सर्जित ऊर्जा हैँ।
♦ वायरस जनित रोग— एड्स  डेँगू ज्वर, पोलियो, चेचक, पीलिया, रेबीज आदि।


♦ जीवाणु जनित रोग— तपेदिक, प्लेग, डिप्थीरिया, कोढ़, मोतीझरा, टिटनेस, निमोनिया, हैजा आदि।
♦ आनुवंशिक रोग— हीमोफीलिया, मंगोलिज्म, वर्णांधता आदि।
♦ शुद्ध जल का pH मान 7 होता है।
♦ 24 कैरेट स्वर्ण को शुद्ध स्वर्ण माना जाता है।
♦ मानव शरीर मेँ सबसे कठोर तत्त्व एनामिल (दाँतो पर) होता है।
♦ विटामिन ई चर्बी युक्त विटामिन है।
♦ भाप इंजन का आविष्कार जेम्स वॉट ने किया।
♦ पीने वाली शराब मेँ एथनॉल एल्कोहल होता है।


♦ मानव का तापमान 310 K या 36.9° C है।
♦ कच्चा तेल काला सोना है।
♦ माध्यम के तापमान मेँ वृद्धि के साथ प्रकाश की गति बढ़ती है।
♦ डिस्क पर भंडारण हेतु किसी डाटा फाइल का आकार छोटा करने के लिए उसके संधारण को संपीड़न कहते हैँ।
♦ विटामिन के रक्त के स्कंदन मेँ (थक्का जमाने मेँ) सहायक विटामिन है।
♦ लसीकाणु (लिम्फोसाइट) कोशिका प्रतिरक्षी पैदा करती है।
♦ भारत ने अपना पहला अंतरिक्षयान आर्यभट्ट 1975 मेँ प्रक्षेपित किया।
♦ भारत की प्रथम जमीन से हवा मेँ मार करने वाली निम्न दूरी की मिसाइल त्रिशूल है।
♦ बल की इकाई डाइन है।
♦ सामान्य व्यक्ति की नब्ज की गति 70-80 के मध्य होती है।
♦ प्रकाश वर्ष मेँ दूरी मापी जाती है।
♦ रमन प्रभाव प्रकाश से संबंधित है।
♦ पारे का रासायनिक सूत्र Hg है।
♦ मूत्र का पीला रंग यूरोक्रोम नामक वर्णक के कारण होता है।


♦ बीयर किण्वन से बनाई जाती है जबकि शराब आसवन से बनाई जाती है।
♦ परावर्तन के कारण हमेँ वस्तुएँ दिखाई देती हैँ।
♦ आसंजक बल के द्वारा लिफाफे पर डाक टिकट चिपकी रहती है।
♦ एन्थ्रेसाइट प्रकार का कोयला उत्तम गुणवत्ता का होता है। इसमेँ कार्बन सर्वाधिक मात्रा मेँ होता है।
♦ द्रव्यमान का मात्रक किलेग्राम तथा भार का मात्रक न्यूटन होता है।
♦ पारा, सिजियम, गैलियम द्रव धातु होते हैँ, शेष ठोस धातु होते हैँ।
♦ –40° सेन्टीग्रेड तथा –40° फॉरेनहाइट समान होते हैँ।
♦ सोयाबीन मेँ सर्वाधिक मात्रा मेँ प्रोटीन पाया जाता है।
♦ प्रोटीन की कमी से– क्वाशिओस्कारे तथा मेरेस्मस रोग हो जाते हैँ।
♦ सोडियम स्वतंत्र अवस्था मेँ जल उठता है, अतः इसे केरोसीन मेँ रखा जाता है।
♦ सफेद फास्फोरस को पानी मेँ रखा जाता है।
♦ चाँदी विद्युत का सर्वोत्तम चालक होता है।
♦ पृष्ठ तनाव के कारण पानी की बूँदे गोल हो जाती हैँ।


♦ राष्ट्रीय विज्ञान दिवस 28 फरवरी को मनाया जाता है।
♦ कार्बन डाइऑक्साइड गैस ग्रीन हाऊस प्रभाव के लिए प्रमुख उत्तरदायी गैस है।
♦ युवा व्यक्ति के दिल की धड़कन औसत प्रति मिनट 72 होती है।
♦ विद्युत बल्ब मेँ नाइट्रोजन गैस भरी जाती है।
♦ रात्रि के समय वृक्ष के नीचे सोना उपयुक्त नहीँ माना जाता है क्योँकि उस समय पेड़ कार्बन डाइऑक्साइड गैस छोड़ते हैँ।
♦ एनीमिया रोग आयरन (लौह) की कमी से होता है।
♦ जल का रासायनिक सूत्र H²O है।
♦ स्वर्ण धातु पर हवा एवं ऑक्सीजन का प्रभाव न्यूनतम होता है।
♦ एक स्वस्थ मनुष्य अधिकतम कैलोरी की खपत फुटबॉल खेलते हुए करता है।
♦ नाभिकीय विखंडन मेँ ऊर्जा विमोचन रासायनिक ऊर्जा के रूप मेँ होता है।


♦ अस्थि और उपास्थि के निर्माण और अनुरक्षण के लिए कैल्शियम तत्त्व की मुख्य आवश्यकता होती है।
♦ प्रोटीँस मेँ आमतौर पर मिलने वाली एमिनो अम्लोँ की संख्य 20 होती है।
♦ हवाई जहाज का आविष्कार ओरविल एवं विलियम राइट ने किया।
♦ वैज्ञानिक थॉम्स एल्वा एडीसन के नाम सर्वाधिक आविष्कारोँ का पैटेण्ट हुआ है।
♦ रूस के अंतरिक्ष स्टेशन का नाम मीर है।
♦ फैदोमीटर समुद्र की गहराई नापने वाले यंत्र का नाम है।
♦ यदि किसी रेडियोएक्टिव तत्त्व का 75 प्रतिशत भाग 24 वर्ष मेँ विघटित होता है तो उस तत्त्व का अर्द्धायु काल 12 वर्ष होगा।
♦ प्लास्टर ऑफ पेरिस डी-हाइड्रेशन के कारण जमता है।


♦ ध्रुवण की घटना यह दर्शाती है कि प्रकाश तरंगे अनुप्रस्थ प्रकृति की होती हैँ।
♦ प्राकृतिक गैस के अवयव के रूप मेँ प्राप्त होने वाली प्रमुख अक्रिय गैस हीलियम है।
♦ डॉ. ए.पी.जे.अब्दुल कलाम को भारतीय प्रक्षेपास्त्रोँ के पूर्ण स्वदेशी कार्यक्रम का निर्माता माना जाता है।
♦ ध्वनि की तीव्रता को डेसीबल मेँ मापा जाता है।
♦ ग्लोबल वार्मिँग ग्रीन हाऊस का प्रभाव है।
♦ श्री हरिकोटा स्थान भारत के रॉकेट प्रक्षेपण के लिए प्रसिद्ध है।
♦ ओजोन मंडल मेँ छिद्र के लिए उत्तरदायी गैस क्लोरोफ्लोरो कार्बन है।
♦ प्रथम भारतीय वैज्ञानिक जगदीशचन्द्र बसु ने विश्व मेँ लघु तरंग रेडियो का आविष्कार किया।
♦ कम्प्यूटर के निर्माण मेँ सिलिकॉन की आवश्यकता होती है।


♦ कारखानोँ से निकलने वाले प्रदूषित धुएँ से दमा रोग होता है।
♦ रिएक्टर स्केल का प्रयोग भूकम्प को नापने मेँ होता है।
♦ अनियंत्रित औद्योगिकीकरण से अम्ल वर्षा होती है। यह मुख्य रूप से नाइट्रस और सल्फर डाइऑक्साइड के कारण होती है।

♦ यदाकदा ऐसा अनुभव किया गया है कि थर्मस मेँ जब खोलता हुआ पानी डाला जाता है तो शीशा चटक जाता है, क्योँकि खोलता हुआ तरलपदार्थ अधिक दबाव डालता है।
♦ हवा मेँ ऑक्सीजन की मात्रा लगभग प्रतिशत 20 % है।
♦ सूर्य के प्रकाश से विटामिन डी प्राप्त होता है।
♦ गर्मी मेँ दूध मेँ वसा तत्त्वोँ की मात्रा मेँ कमी हो जाती है।
♦ बैटरी मेँ सल्फ्यूरिक एसिड का उपयोग किया जाता है।
तंत्रिका कोशिका मानव शरीर की सबसे बड़ी कोशिका है
♦ महाधमनी मानव शरीर की सबसे बड़ी धमनी है।
♦ मानव शरीर मेँ सर्वाधिक मात्रा मेँ पाया जाने वाला पदार्थ जल (55-60%) है।
♦ शुक्राणु मानव शरीर की सबसे छोटी कोशिका होती है। यह एक नर जनन कोशिका है।
♦ एड्रीनलीन हार्मोन को ‘करो या मरो’ हार्मोन भी कहा जाता है।
♦ हाइपोथेलेमस ग्रंथि को ‘सुपर मास्टर (Head Master)’ ग्रंथि कहा जाता है।
♦ जबड़े की हड्डी शरीर की सबसे मजबूत हड्डी है।
♦शरीर की सबसे छोटी हड्डी स्टेपीज कर्ण मेँ होती है।
♦ सबसे लम्बी हड्डी फीमर होती है।
♦ 4° से. तापक्रम पर जल का घनत्व अधिकतम होता है।


♦ बॉक्साइट एल्युमिनियम का प्रमुख खनिज है।
♦ रुधिर की कमी से एनीमिया रोग होता है।
♦ विटामिन सी घाव भरने मेँ सहायक होता है।
♦ केले मेँ अनिषेक जनन पाया जाता है।
♦ तिलचिट्टा मेँ रुधिर रंगहीन होता है।
♦ तम्बाकू मेँ निकोटिन नामक विषैला पदार्थ होता है।
♦ आमतौर से श्वसनीय शोथ रोग पेशी खिँचाव की दशाओँ से सम्बद्ध होता है।
♦ भौतिक परिवर्तन से पदार्थ के भौतिक गुणोँ मेँ परिवर्तन होता है। यह परिवर्तन अस्थाई एवं उत्क्रमणीय होता है। भौतिक परिवर्तन केउदाहरण— सोने का पिघलना, काँच का टूटना, शक्कर का पानी मेँ घुलना, आश्वन, संघनन, उर्ध्वपातन आदि।
♦ रासायनिक परिवर्तन स्थाई एवं सामान्यतः अनुत्क्रमणीय होते हैँ। उदाहरण— कोयले का जलना, लोहे पर जंग लगना, दूध का दही बनना,अवक्षेपण, किण्वन, दहन आदि।
♦ घरोँ मेँ भेजी जाने वाली प्रत्यावर्ती धारा की वोल्टता 220 वोल्ट तथा आवर्ती 50 चक्र प्रति सैकण्ड या हर्ट्ज होती है।
♦ घरोँ मेँ लगे विद्युत उपकरण बल्ब, पंखा, दूरदर्शन, हीटर, रेफ्रीजरेटर आदि को समान्तर क्रम मेँ लगाया जाता है।
♦ विद्युत परिपथ मेँ धारा प्रवाहित करने पर प्रति सैकण्ड किये गये कार्य या कार्य करने की दर को विद्युत शक्ति कहते हैँ। विद्युत शक्ति का मात्रक जूल प्रति सैकण्ड या वाट है।
♦ वाट शक्ति का छोटा मात्रक है। 1 किलोवाट = 1000 वाट, 1 मेगावाट = 1000000 वाट, 1 अश्वशक्ति (Horse Power) = 746 वाट।
♦ यदि किसी बल्ब पर 100 वाट तथा 220 वोल्ट लिखा है तो इसका तात्पर्य है कि बल्ब 220 विभवान्तर पर प्रयुक्त करने पर 100 वाट शक्ति व्यय करेगा अर्थात् 1 सैकण्ड मेँ 100 जूल ऊर्जा खर्च होगी।
♦ विद्युत ऊर्जा को किलोवाट घण्टा मेँ मापा जाता है। 1 किलोवाट घण्टा को एक यूनिट कहते हैँ। एक किलोवाट घण्टा (KWh) = 1000 वाटx घण्टा = 1000 X 60 X 60 वाट सैकण्ड = 3.6 x 10&sup6; (टिन व सीसा) का बना होता है।


♦ टेलीफोन, टेलीग्राफ, विद्युत घण्टी तथा विद्युत क्रेन विद्युत धारा के चुम्बकीय प्रभाव पर कार्य करते हैँ।
♦ हीटर प्लेट प्लास्टर ऑफ पेरिस एवं चीनी मिट्टी के मिश्रण से बनाई जाती है जो विद्युत की कुचालक होती है।
♦ हीटर मेँ तापन तन्तु नाइक्रोम, केलोराइट, क्रोमेल आदि का बना हुआ प्रयुक्त किया जाता है।
♦ विद्युत स्त्री या प्रेस मेँ तापन तन्तु नाइक्रोम अभ्रक के टुकड़ोँ मेँ रखा जाता है।
♦ विद्युत टोस्टर जो डबल रोटी को सेकने के लिए प्रयुक्त किया जाता है, मेँ तापन तन्तु नाइक्रोम तार का बना होता है।
♦ रेफ्रिजरेटर न्यून दाब पर द्रव के वाष्पन सिद्धान्त पर कार्य करता है।
♦ रेफ्रिजरेटर मेँ अमोनिया, मिथाइल क्लोराइड, क्लोरोफ्लोरो कार्बन (फ्रीऑन) एवं हाइड्रोफ्लोरो कार्बन प्रशीतक के रूप मेँ काम मेँ लाये जाते हैँ।
♦ किसी चालक मेँ विद्युत धारा प्रवाहित करने पर वह गर्म हो जाता है इसे विद्युत धारा का ऊष्मीय प्रभाव कहते हैँ।
♦ हीटर, प्रेस, विद्युत केतली, टोस्टर, ऑवन आदि युक्तियाँ धारा के ऊष्मीय प्रभाव पर कार्य करती हैँ। इन सभी युक्तियोँ मेँ प्रायः नाइक्रोम जैसी मिश्र धातु के तापन तन्तु काम मेँ लाये जाते हैँ।
♦ बैसेमर विधि से फफोलेदार ताँबा प्राप्त होता है।
♦ अपरिस्कृत लोहा ढलवां लोहा या कच्चा लोहा कहलाता है जबकि पिटवा लोहा, लोहे का शुद्ध रूप होता है।
♦ सल्फर का उपयोग मुख्य रूप से गंधक का अम्ल, बारूद, औषधी एवं कीटनाशी के रूप मेँ किया जाता है।
♦ फॉस्फोरस का उपयोग दियासलाई उद्योग, मिश्रधातु तथा कीटनाशी यौगिकोँ के निर्माण मेँ किया जाता है जबकि इसके यौगिक उर्वरक के रूप मेँ प्रयुक्त होते हैँ।
♦ वायुमण्डल की ओजोन परत सूर्य की किरणोँ से आने वाली हानिकारक पराबैँगनी किरणोँ का अवशोषण करती है।
♦ गन्धक के अम्ल का उपयोग डिटर्जेन्ट उद्योगोँ मेँ, विद्युत बैटरी तथा प्रयोगशाला मेँ बहुतायत से किया जाता है।
♦ हाइड्रोक्लोरिक अम्ल का उपयोग क्लोरीन गैस के निर्माण तथा विरंजक चूर्ण बनाने मेँ किया जाता है।
♦ सीमेन्ट मेँ चूना, सिलिका, ऐलूमिना, मैग्नीशियम ऑक्साइड तथा फेरिक ऑक्साइड आदि होते हैँ।
♦ प्लास्टर ऑफ पेरिस कैल्सियम का अर्द्धहाइड्रेट  खिलौने, मूर्तियाँ तथा प्लास्टर के काम आता है।
♦ क्रिस्टलीय अपररूपोँ मेँ हीरा, ग्रेफाइट एवं फुलरीन हैँ।


♦ हीरा अत्यधिक कठोर, ताप एवं विद्युत का कुचालक है।
♦ ग्रेफाइट नर्म व चिकना, ताप एवं विद्युत का सुचालक है।
♦ एल्केनोँ के पॉली क्लोरोफ्लोरो व्युत्पन्नोँ को क्लोरो–फ्लुओरो कार्बन या फ्रीऑन कहते हैँ। फ्रीऑन का उपयोग प्रशीतक मेँ किया जाता है।
♦ CNG का उपयोग ईंधन के रूप मेँ तथा महानगरोँ मेँ चलने वाले वाहनोँ मेँ पेट्रोल तथा डीजल के विकल्प मेँ किया जा रहा है।
♦ प्राकृतिक रबर आइसोप्रीन का बहुलक है।
♦ प्राकृतिक रबर को गंधक के साथ गर्म करना वल्कीनीकरण कहलाता है।
♦ साबुन एवं अपमार्जक निर्माण की क्रियाविधि भिन्न–भिन्न है। अपमार्जक कठोर जल के साथ भी अच्छे परिणाम देते हैँ।
♦ कीटोँ को मारने या प्रतिकर्षित करने के लिए प्रयुक्त रसायनोँ को कीटनाशी कहते हैँ।

 


Previous

Next

सबसे महत्वपूर्ण नोट्स ,सामान्य ज्ञान ,महत्वपूर्ण प्रश्न for Competitive Exams In Hindi

नवीनतम करेंट अफेयर्स
नवीनतम सामान्य ज्ञान
General Hindi Notes for Competitive Exams in hindi
वर्ष 2016 की 12 महत्‍वपूर्ण घटनाएं
भारतीय थलसेना प्रमुखों की वर्ष 1953 से अबतक की सूची
विश्व के प्रमुख संगठन और उनके पदाधिकारी 2017
Heads of Important Offices in India 2016 GK
चीन की विशाल दीवार
रामकृष्ण परमहंस का जीवन परिचय
सरोजनी नायडू
स्‍वामी दयानन्‍द सरस्‍वती का जीवन परिचय
कल्‍पना चावला की वायोग्राफी
महात्मा गांधी के बारे में महत्वपूर्ण जानकारी
महाराणा प्रताप का जीवन प‍रिचय -
लाला लाजपत राय के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी
लाल बहादुर शास्‍त्री के बारे में महत्‍वपूर्ण जानकारी
देश की पहली महिला शिक्षक सावित्रीबाई फुले के जीवन की दस बातें
अमेरिका के राष्ट्रपति की सूची (1789-2017)
सामान्य ज्ञान के प्रश्न और उत्तर
आईसीसी पुरस्कार के विजेताओं की सूची
नवीनतम सामान्य ज्ञान,भारत के इतिहास महत्वपूर्ण जानकारियाँ
राष्ट्रपति भवन,नवीनतम सामान्य ज्ञान ,महत्वपूर्ण जानकारियाँ महान व्यक्तित्व
विश्व का नवीनतम सामान्य ज्ञान
ग्रेगोरी कैलंडर के अनुसार 2 अप्रैल का दिन​
GK Best 200 Quiz In Hindi for RPSC
GK Best 200 Quiz In Hindi for RPSC ,part 2
GK Best 200 Quiz In Hindi for RPSC ,part 3
GK Best 200 Quiz In Hindi for RPSC
GK and Current Affairs ,part 1
GK and Current Affairs ,part 2
GK and Current Affairs ,part 3
RAS related quiz , part 4
भारत के प्रमुख शोध संस्थान
भारत की प्रमुख झीलें
प्रमुख कृषि फसलें और उनके उत्पादक देश
RBI Governors List
MPPSC GK in Hindi Questions Answers
Rajasthan Current GK Question and Answer
important question in hindi
India Mountain - Trivia Quiz
सफलता के 20 मंत्र जरूर पड़ना
2200
Daily Visitors
32
Categories
29000
Indian
50000
Facebook Fans Target